Sanatan Darshan

सनातन अमृत, चलो सनातन की ओर

धनतेरस, दीपावली 2018, सटीक शुभ मुहूर्त, पूजा विधि एवं उपाय

4- मुख्य पर्व दीपावली

7 नवंबर 2018 बुधवार- पूजन का शुभ मुहूर्त

– स्थिर लग्न कुम्भ अपरान्ह 1 बजकर 11 मिनट से 2 बजकर 44 मिनट के बीच।

– स्थिर लग्न वृष सायंकाल 5 बजकर 58 मिनट से रात्रि 7 बजकर 58 मिनट के बीच प्रदोष कालिक मुहूर्त में पूजन करना अतिउत्तम रहेगा।

– पूजन के बाद हल्दी, कामया सिंदूर और गाय का घी मिश्रित घोल से मुख्य द्वार, आलमारी, तिजोरी आदि पर शुभता का प्रतीक स्वास्तिक का चिन्ह बनायें।

– मकान दुकान आदि के मुख्य द्वार पर पूजा की हुई लोहे की कील ठोक दे।

 

– लाल कपड़ें में बनाई गई कुबेर की पोटली को स्वास्तिक बनाकर धन रखने के स्थान पर स्थापित करें।

– सभी कार्यों की सफलता के लिए लाल कपड़े में गोमती चक्र सिक्के के साथ घर एवं व्यापार स्थल दुकान आदि के भीतरी तरफ मुख्य प्रवेश द्वार पर बांध दे।

5- निशीथकालीन पूजन

– रात्रि 11 बजकर 39 मिनट से 12 बजकर 33 मिनट के बीच करें।

– इस बीच सिद्धि कुंजिका स्त्रोत. दत्तात्रेय वज्र कवच. शिव अमोघ कवच, या हनुमान बाहूक आदि का पाठ करना चाहिए।

6- स्थिर लग्न सिंह- रात्रि 12 बजकर 56 मिनट से 2 बजकर 35 मिनट के बीच सुविधा अनुसार पाठ या पूजन करें।

Updated: January 24, 2019 — 6:04 pm
Sanatan Darshan © 2017 Frontier Theme
error: Content is protected !!